भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

अपने कवि होने की बुनियाद / कुमार मुकुल

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

चुप किया जाना
एक सजा है तुम्हारी खातिर

जबान और हाथों को जब
रोक दिया जाता है
शालीन अश्लीलता से

तो असंतोष की किरणें
फूटने लगती हैं
तुम्हारी निगाहों से

और कई बार
उसकी मार तुम
अपने भीतर मोड देती हो

तब
तुम्हारे मुकाबिल होना
एक सजा हो जाता है
मेरे लिये

एक सजा
जिसे पाना
अपनी खुशकिस्मती समझता हूं मैं
मेरी कुटुबुटु

कि हमारा रिश्ता ही दर्द का है
जिसकी टीस को
जब संभाल लेती है मेरी कविता
तब कविता का महान व्योपार
कर पाती है वह

तब देख पाता हूं
जान पाता हूं मैं
अपने कवि होने की बुनियाद।