भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

अपराध / राखी सिंह

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

भूल थी जो
कण जितनी सूक्ष्म
तुमने उसे विस्तार दिया

निर्दोष समान दोष
को क्यों छल कहा?

अपराध ही है जब, तो
लो अब
अंकित रहेंगे दंड इसके।