भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

अब केवल प्रेम / वत्सला पाण्डे

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

दुःखों में
डूबती ही गई
उबरने के लिए

पीडा.ओं को
सोख लिया
तीन आचमन में

पच गए हैं
सभी शोक संताप

मैं निःशेष