भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

अर्थ अतित्व का / लेस मरे

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हर शय भाषा के सिवा
अर्थ जानती है अस्तित्व का!
पेड़, ग्रह, नदी, समय
और कुछ नहीं जानते!
वे इसको
ब्रह्माण्ड की तरह
पल-दर-पल अभिव्यक्त करते रहते हैं!

अंशतः तो यह मूढ़ देह भी
जीती है इसको
और इसके भीतर रहती है शालीन!
सारी मुसीबत की जड़ तो है-
मेरे इस बकबकहे मस्तिष्क की
मूरख-सी स्वाधीनता!


अंग्रेज़ी से अनुवाद : अनामिका