भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

अहि योग नारि जनम लेल / मैथिली लोकगीत

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मैथिली लोकगीत   ♦   रचनाकार: अज्ञात

अहि योग नारि जनम लेल, रूसि पहु हमर विदेश गेल
कर्म अभाग हमर भेल, वारि वयस पहु तेजि गेल
अँचरहि कमल फुलित भेल, ताहि देखि भमरा लुबुधि गेल
पूर्व जन्म हम चुकलहुँ, गौर पुजि नहि सकलहुँ
भनहि विद्यापति गाओल, गौरी सुन्दर वर पाओल