भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

आज के संदर्भ में कल / प्रताप सहगल

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

 
सड़कों पर घूमते हुए
एकलव्य

खोज रहे हैं द्रोण को

और द्रोण न जाने किन अन्धी
गुफ़ाओं में

या यूतोपियाई योजनाओं में
खोया हुआ ख़ामोश है ।