भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

आने को है आज फिर आँधी संग तूफ़ान / धनंजय सिंह

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

विशेषज्ञ बतला रहे
मौसम का अनुमान,
आने को है आज फिर
आँधी संग तूफ़ान।

सुनकर यह चेतावनी
चिन्तित बहुत किसान,
जो उस पर है बीतनी
कैसे करे बयान।

कटने को बाक़ी फ़सल
खुले पड़े खलिहान,
वज्रपात ओले करें
झकझोरे तूफ़ान।

इसी फ़सल पर है टिका
बिटिया का सुविवाह,
सुन तो ली चेतावनी
कैसे करे निबाह।