भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार
Roman

आम्बेडकरीय कविता - 5 / प्रेमशंकर

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

वोट की चोट
अछूतों के लिए है
किसी और के लिए नहीं
ज़मीन किसी और के लिए है
अछूतों के लिए नहीं?
फिर कैसे बाबा साहेब की मूर्ति
लगेगी?
नयी संस्कृति कैसे उगेगी?
सवाल करो—
नक़ली मसीहा से।