भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार
Roman

आम्बेडकरीय कविता - 7 / प्रेमशंकर

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

उसका नंगापन—
कब नंगापन दिखा जाए
यह सवाल झंडे-सा फहर रहा है
अछूत मर रहा है
पिस रहा है
नंगा चौराहे पर पुलिस से
पिट रहा है
असहाय गाँव-खेतों में
अत्याचार सह रहा है
भला प्रजातन्त्र में
ऐसा क्यों हो रहा है?
प्रतिक्रियावादी अपने पीछे क्यों
एक भयानक इतिहास बो रहा है?