भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

इहा कहिड़ी ॻाल्हि आहे? / रीटा शहाणी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

इहा कहिड़ी ॻाल्हि आहे
जा तूं समुझीं थो
मां समुझां थी
ऐं समुझी नथा सघूं?

इहा कहिड़ी ॻाल्हि आहे?
जा तूं ॾिसीं थो
मां ॾिसां थी
ऐं ॾिसी नथा सघूं?

इहा कहिड़ी ॻाल्हि आहे?
जा तूं बुधीं थो
मां बुधां थी
ऐं बुधी नथा सघूं?

इहा कहिडत्री ॻाल्हि आहे...?