भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

उड़ गई चिड़िया मेरी / गैयोम अपोल्लीनेर

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

उड़ गई, चिड़िया मेरी, उड़ गई
तेज़ बारिश हो रही थी, पर वह उड़ गई
पड़ोस के शहर को उड़ गई चिड़िया

नाचेगी वहाँ
किसी दूसरे के साथ
किसी दूसरे के यहाँ,
किसी दूसरे के पास

औरत नहीं है,
वह है झूठी गुड़िया
उड़ गई मेरी जादू की पुड़िया

रूसी से अनुवाद : अनिल जनविजय