भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

उलटा अखबार / प्रकाश मनु

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

थामे बैठे हैं चिंटू जी
जब से आया है अखबार,
उलट-पुलटकर देख रहे हैं
घंटे बीत गए दो-चार।

मम्मी बोली-चिंटू प्यारे,
लगन तुम्हारी अपरंपार,
लेकिन कहना मानो बेटे,
सीधा तो कर लो अखबार!