भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार
Roman

उल्लू के पट्ठा / अमरेन्द्र

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

आम बड़ा छौ खट्टा ई
बासी दही के मट्ठा ई
तभियो खाय लेॅ लट्ठा ई
उल्लू के छौ पट्ठा ई
दूध मिलै तेॅ भागै सरपट
इमली खाय लेॅ जीहा चटपट
बुझै केतारी खुट्टा केॅ
हपकै कच्चा भुट्टा केॅ।