भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

उसका विलाप / अर्जुनदेव चारण

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


कलेजा ठंडा करने को
तुम्हारा
बहाता है वह आसूं
लोग उसे पहचानते हैं
कहते हैं मेह
बाबुल इसी तरह
बरसाया करता है
अपना नेह।

अनुवाद :- कुन्दन माली