भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

एंजेलिना जोली अर समेस्ता / सतीश छींपा

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

आखी दुनिया रा अखबार कैवै
भोत सूंणी अर चोखी अभिनेत्री है-
एंजेलिना जोली
आखै हॉलीवुड माथै
उणरै फूठरापै रो जाळ परस रैयो है
एक चमकीलै पानां वाळी पत्रिका लिखै-
‘एंजेलिना जोली इण संसार रो मोती है’।
म्हैं बांचूं अर सोचूं
कांई साची वा भूरै केसां वाळी इत्ती फूठरी है
कै इत्ती चोखी है उणरी एक्टिंग
कै आखी दुनिया रा अखबार
करै फगत उणरी बडाई।
 
किरतै बडै वाळी समेस्ता आगै
चांद ई भरै पाणी
सूरज पण संकै
देखण नैं उणरो फूटरापो
डंडा सूं नरमो बारै आ जावै
वा फेयर लवली नीं लगावै
पोडरां रो नांव तकात नीं जाणै
पण फेर ई
जद चालै वा....
आभो उणरा कोड करण सारू
लप-लप करतो उतर आवै हेठो।
पण फेर ई वा
किणी अखबार रो मान नीं बधावै
नीं पड़ै उण माथै
किणी चमकीलै पानां वाळी पत्रिका रै
रिपोर्टर रै केमरै रो फ्लेस
क्यूं कै वा समेस्ता है
किरसै री जायी
पसीनै रै बंट निपजावै आपरा भाग
लगावै बूढै बाप रै सायरो
बा एंजेलिना जोली नीं बण सकै
वा एंजोलिना जोली रै आय जावै झाग
जे बणै वा समेस्ता.... ।