भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

एकान्त / अमृता भारती

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

एकान्त-
जब वह होता
जब वह न होता-
कितना भरा हुआ होता
एकान्त
उससे
उसके स्मरण से ।

रुक जाता हर क्षण
सब कुछ एकटक हो जाता
घर के अन्दर
या देहरी पर-

एकान्त
कितना परिपूर्ण होता
उससे
जब वह होता
जब वह न होता ।