भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

एना जो डिठाना की सरसर पाटी ओ / पँवारी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

पँवारी लोकगीत   ♦   रचनाकार: अज्ञात

एना जो डिठाना की सरसर पाटी ओ
आठ जो कुरण्डुल नव दिवलानीऽऽ
डिठाना घड्यो बाढ़ी यू दादा नऽ
या दिवली घड़ी ओ राया लुहार नऽ
या दिवली पझरय ओ महादेव की ड्यौढ़ी
रानी या पारवती झरअ मरी