भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार
Roman

ऐ गाड़ीवाला रे / छत्तीसगढ़ी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

   ♦   रचनाकार: अज्ञात

ऐ गाड़ीवाला रे , ऐ गाड़ीवाला रे
पता देजा रे पता लेजा रे

पता देजा पता लेजा गाड़ीवाला रे
तोरे नांव के तोरे गाँव के पता देजा

जिया जागत रहिबे रे बईरी,
भेजबे कभू ले चिट्ठिया,

काया माया के नाच नचाये
मया के एक नजरिया

ऐ गाड़ीवाला रे , ऐ गाड़ीवाला रे
पता देजा रे पता लेजा रे