भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

कई आँवा मोरिया, जांबू मोरिया / मालवी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

   ♦   रचनाकार: अज्ञात

कई आँवा मोरिया, जांबू मोरिया
कई मोरी कचनार म्हारा राज
आज जमेरी रसभरी
फलाणा राय तमारा राज में
उना जमई का झाडू का लाड़
आज जमेरी रसभरी
फलाणी बऊ तमारा राज में
बेटी का दूना-दूना लाड़
म्हारा राज आज जमेरी रसभरी।