भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

कल के लिए पत्रिका

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
कल के लिए
Kal-ke-liye-patrika-logo-kavitakosh.png

kavitakosh.org/kalkeliye

प्रकाशक जय नारायण बुधवार
सम्पादक जय नारायण बुधवार
भाषा हिन्दी
अवधि त्रैमासिक
प्रथम अंक
विषय अप्रैल 2016 तक साहित्य एवं संस्कृति ... इसके बाद विकलांगता विमर्श
ISSN
प्रकाशन का स्थान
लखनऊ
सदस्यता / खरीदने / सामग्री भेजने हेतु पता
kalkeliye.magazine@gmail.com
अन्य जानकारी
अप्रैल 2016 के अंक से इस ने अपने विषय के रूप में विकलांगता विमर्श को अपना लिया। पत्रिका की वेबसाइट: sahkarm.org
कविता कोश आपका अपना मंच है। यदि आप किसी पत्रिका का प्रकाशन करते हैं तो आप भी अपनी पत्रिका को साझा मंच पर शोधार्थियों की सुविधा हेतु उपलब्ध करा सकते हैं। इसके लिए कविता कोश टीम से सम्पर्क करें।

"कल के लिए" के अंक