भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

कहमा ते बहैये मैया कमलेसरी हे / अंगिका

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

   ♦   रचनाकार: अज्ञात

कहमा ते बहैये मैया कमलेसरी हे
हे कमला बहै छै बलान ।
कहमा मैया बहै कोसीधार ।।
अलापुर बहै मैया, मैया कमलेसरी हे
तिरहुत बहै छै मैया बलान
मैया धरमपुर बहै छै कोसीधार हे ।
किअ दय समदव मैया मैया कमलेसरी हे,
मैया हे किय दय समदव बलान हे ।
पानफूल दयसमदव मैया मैया कमलेसरी हे
मैया हे परवा दय समदव बलान हे ।
पाठी दय समदव मैया, कोसीधार हे मैया हे पाठी दय ।