भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

का माँगय पाटिल का माँगय ओ / पँवारी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

पँवारी लोकगीत   ♦   रचनाकार: अज्ञात

का माँगय पाटिल का माँगय ओ
गाँव की बेटी तू का माँगय।
का दीहे पाटिल का दीहे रे
गाँव की बेटी खऽ का दीहे
का माँगय बेटी तू का माँगय ओ
गाँव को पाटिल आय गयो
का माँगय बेटी तू का माँगय ओ
पाटिल की रनिया आय गई।
लम्बी उमर माँग लेजो ओ नान्ही
धन दौलत मत माँगजो ओ
का माँगय बेटी तू का माँगय ओ
लम्बी उमर तू माँगय ले जो।।
बेटी तू गाँव पाटिल सी काजत माँगनो चाव्हय
तू गाँव की बेटी आय, तोखऽ गाँव को पटेल का दीहे तो माँग ले।