भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

कोई क्या जाने बाँकपन के यह ढंग / यगाना चंगेज़ी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

कोई क्या जाने बाँकपन के यह ढंग।

सुलह दुश्मन से और दोस्त से जंग॥


क्या ज़माना था कैसे दुश्मन थे?

रात भर सुलह और दिन भर जंग॥


संगे-दिल को बना दूँ देवता मैं।

आप क्या जानें बन्दगी के ढंग?