भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

कौन है धूप-सा छाँव-सा कौन है / हस्तीमल 'हस्ती'

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

कौन है धूप-सा छाँव-सा कौन है
मेरे अंदर ये बहरूपिया कौन है

झूठ की शाख़ फल-फूल देती नहीं
सोचना चाहिए सोचता कौन है

एक तदबीर है एक तक़्दीर है
ज़ीस्त का सारथी क्या पता कौन है

आँख भीगी मिले नींद में भी मेरी
मुझमें चुपचाप ये भीगता कौन है

अपने बारे में `हस्ती' कभी सोचना
अक्स किसके हो तुम आईना कौन है