भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

क्या था अपना / वत्सला पाण्डे

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

तन दिया
फिर कर्म भी
सौंप दिया
ऐतबार अपना

दे दिया
वह सब भी
जो था कभी
अपना

पर
कुछ तो रहा
ऐसा जो
नहीं दे सकी
तुम्हें

जहाज के पंछी सा
लौटता रहा
जहां से आया था
मन