भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

क्यों सबक लें? / असंगघोष

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

एक
चकवाङा
दूसरा
झज्जर
ऐसे एक नहीं
अनेक चकवाङा हैं
और झज्जर भी

हर कहीं
चहुँ ओर
यही घटित होता है

समय की गर्त्त में
सब कुछ भुलाने को
छिपते हुए
क्यों?

हम क्यों सबक लें?
आओ
यह प्रण लें
और अधिक कट्टर! बनें
निपटने,
तैयार रहें!