भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

खिड़की से / वीरा

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

खिड़की से

दिख रही थी दूर बहुत दूर

एक रोशनी जलती हुई

मैं उसे ठीक से

देखती-देखती

कि कविता

उसे लाने निकल चुकी थी।


(रचनाकाल : 1985)