भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

खेल / बद्रीनारायण

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

बैठे हैं हम, गोल में
पहाड़ पर
खेलने आइस-पाइस

हमने कहा
नदी आइस-पाइस
पेड़-पौधे-हरियाली आइस-पाइस

आइस-पाइस बादल
तूफ़ान आइस-पाइस

हम ताक में बैठे हैं कि
कह दें
मौत आइस-पाइस।