भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

गहनो दे घरवाई मरद ते कह लुगाई / हरियाणवी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

गहनो दे घरवाई मरद ते कह लुगाई
इन लोटन में आग लगादे मेरा गुलीबन्द घरवादे
गहनो दे घरवाई मरद ते कह लुगाई
गुलीबन्द है खाजा चपरा, आच्छे कीमती लादूं कपरा
सारी दे मंगवाई मरद ते कहे लुगाई