भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

गाँवों में गाँव एक सेमापुर गाँव / आभा पूर्वे

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

गाँवों में गाँव एक सेमापुर गाँव
मोॅन रै रहि-रहि वही ठियां जाँव

केला के गाछ जहाँ ठामे ठाम खाड़ोॅ
ओकरे नीचु में हौ प्रेम जहाँ गाढ़ोॅ
दै छै बटोही केॅ ठामे ठाम छाँव

छोटका लड़कवा जहाँ देवरे सब लागै
आरोॅ जनानी सब सासुवे रं भावै
स्वामी के सनेश कहै कौआ गागी ‘काँव’

जहाँ कि कोशी के उमतैलोॅ धार
खींचै छै मोहै छै सौसे संसार
मोॅन रहै सेमापुर शहरोॅ में पाँव