भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

गूंगड़ा देशो नीला जोवेड़ा / कोरकू

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

   ♦   रचनाकार: अज्ञात

गूंगड़ा देशो नीला जोवेड़ा
गूंगड़ा देशो नीला जोवेड़ा
रुन्डो रुन्डो टे जाटीये डो बेटा मारे
रुन्डो रुन्डो टे जाटीये डो बेटा मारे
रुन्डो रुन्डो जाटीये अरिको
अमा कंकार गाडा कोरा इयानी बेदी डाय वोडा माय मारे
रुन्डो रुन्डो जाटि अरिको
खिटी खोरा बा कंकार इयानी बेदी डाय माडो माय मारे

स्रोत व्यक्ति - बालकराम सिलाले, ग्राम - झल्लार