भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

चन्द्रिका मय मकुट मुकुटमय चन्द्रिका / महेन्द्र मिश्र

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

चन्द्रिका मय मकुट मुकुटमय चन्द्रिका
चन्द्रिका मुकुट मय चारू चन्द्रिका अंजोर की।
द्युतिमय समाज झाँकी झाँकीमय द्युति
द्युतिमय समाज साज भानू जनु भोर की।
जटित नग छत्र नग नव सिरपेंच बीच
पेंची मणिलाल मुक्तान झलावोर की।
द्विज महेन्द्र झाँकी जैसी दूसरी न झाँकी
जैसी झाँकी हम झाँकी बाँकी दशरथ किशोर की।