भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

चिट्ठी का संदेश / प्रकाश मनु

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

चिट्ठी में है मन का प्यार,
चिट्ठी है घर का अखबार!

इसमें सुख-दुख की है बातें
प्यार भरी इसमें सौगातें,
कितने दिन कितनी ही रातें-
तय कर आई मीलों पार!

यह आई मम्मी की चिट्ठी
लिखा उन्होंने-प्यारी किट्टी,
मेहनत से तुम पढ़ना बेटी,
पढ़-लिखकर होगी होशियार।

पापा पोस्टकार्ड लिखते हैं
घने-घने अक्षर दिखते हैं,
जब आता है बड़ा लिफाफा-
समझो, चाचा का उपहार!

छोटा-सा कागज बिन पैर
करता दुनिया भर की सैर,
नए-नए संदेश सुनाकर
जोड़ रहा है दिल के तार!