भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

छीता पर सासर वास मत करय ओ माय / पँवारी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

पँवारी लोकगीत   ♦   रचनाकार: अज्ञात

छीता पर सासर वास मत करय ओ माय
माथा अपनो राम हय खड़ो
लायी या पर की छीता
एपऽ करय मत अनीता