भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

छोड़ो मत / रत्नेश कुमार

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

दिन में दाई रात में चटाई
किसने यह काली रीति बनायी
बताओ ताऊ, बताओ ताई
दिन में दाई रात में चटाई
जिसने यह काली रीति बनायी
छोड़ो मत उसे लतियाओ भाई।