भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

छोड़ दो थोड़ा-सा दूध थनों में / प्रणय प्रियंवद

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


छोड़ दो थोड़ा-सा दूध थनों में

गायों के बच्चों के लिए
पेड़ में कुछ टहनियां छोड़ दो
नई कोपलों के आने के लिए
थोड़ी-सी हवा छोड़ दो
गर्भवती स्त्रियों के लिए
थोड़ा सा जल
मछलियों के लिए

थोड़ा-सा काग़ज़
और रोशनाई थोड़ी-सी
पहली बार प्रेम करने वाली
लड़कियों के लिए।