भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

जन्मदिन बधाई / संजय अलंग

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

बुलबुल आज चहक रही है
फिज़ा आज महक रही है

जन्मदिन है उसका आज
बज उठे हैं सभी साज

देते सभी शुभकामना औ’ बधाई
परियाँ खुशियाँ भर-भर लाईं

बुलबुल ने है मस्ती मनाई
बहुत-बहुत हो उसे बधाई