भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

जय जय बोला जय भगोती नंदा (धार्मिक गीत) / गढ़वाली

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

   ♦   रचनाकार: नरेंद्र सिंह नेगी

जय जय बोला जय भगोती नंदा, नंदा उंचा कैलास की जय

जय जय बोला जय भगोती नंदा, नंदा उंचा कैलास की जय

जय बोला तेरु चौसिंग्या खाडू, तेरी छंतोळी रिंगाळ की जय

जय बोला तेरु चौसिंग्या खाडू, तेरी छंतोळी रिंगाळ की जय

जय जय बोला.......



काली कुलसारी की, देवी उफरांई की...

नंदा राज राजेश्वरी...

बगोली का लाटू की, हीत बिणेसर की

नंदा राज राजेश्वरी...

बीड़ा बधाण की, जमन सिंह जदोड़ा की, कांसुआ कुवंरुं की....

नंदा राज राजेश्वरी...

जय जय बोला, माता मैणावती, तेरा पिताजी हेमंता की जय...

जय बोला जय भगोती नंदा, नंदा उंचा कैलासा की जय...

जय बोला.....


नौटी का नौट्याळूं की, सेम का सेम्वाळूं की...

नंदा राज राजेश्वरी...

देवल का देवळ्यूं की, नूना का नवान्यूं की...

नंदा राज राजेश्वरी...

देवी नंदकेसरी की, छैकुड़ा का सत्यूं की, बाराटोकी बमणूं की...

नंदा राज राजेश्वरी...

जय जय बोला दशम द्वार डोली, डोली कुरुड़ हिंडोली की जय...

जय बोला जय भगोती नंदा, नंदा उंचा कैलासा की जय...

जय बोला....


डिमर का डिमर्यूं की, मलेथा मलेथ्यूं की...

नंदा राज राजेश्वरी....

तोती का ड्यूंड्यूं की, खंडूड़ा खंडूड़्यूं की...

नंदा राज राजेश्वरी....

नैणी का नैन्वळ्यूं की, गैरोळा थपल्यळ्यूं की, चेपड़्यूं का थोकदारूं की...

नंदा राज राजेश्वरी...

जय जय बोला हीत घंड्याळ, तेरा न्योज्यां निसाण की जय....

जय बोला जय भगोती नंदा. नंदा उंचा कैलासा की जय...

जय बोला


लाता की मल्यारी की, शैलेसर बनोली की...

नंदा राज राजेश्वरी....

मनोड़ा मनोड्यूं की, देवराड़ा देवरड्यूं की..

नंदा राज राजेश्वरी....

चमोळी कंड्वळूं की, चौदा सयाणों की, द्यो सिंह भौ सिंह की...

नंदा राज राजेश्वरी...

जय जय बोला तांबा का पतार, तेरा रिंगदा छतारा की जय....

जय बोला जय भगोती नंदा. नंदा उंचा कैलासा की जय...

जय बोला


नैनीताल अल्मोड़ा की, रणचूला बैजनाथ की...

नंदा राज राजेश्वरी....

कोटमाई डंगोली की, दानपुर सनेती की...

नंदा राज राजेश्वरी....

बदिया बागेसुर की, मारत्वोली जोहार की, छलमिलम मकाया की...

नंदा राज राजेश्वरी...

जय जय बोला ईष्ट देवी नंदा, नंदा कुमौ गढ़्वाळ की जय...

जय बोला जय भगोती नंदा. नंदा उंचा कैलासा की जय...

जय बोला