भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

जाना जरूर देवी दर्शन खो / बुन्देली

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

   ♦   रचनाकार: अज्ञात

जाना जरूर देवी दर्शन खों।
कोआ चढ़ा आये ध्वजा नारियल
कोआ चढ़ा आये बेला के फूल
चमेली के फूल देवी दर्शन खों। जाना...
आजुल चढ़ा आए ध्वजा नारियल
आजी चढ़ा आईं बेला के फूल
चमेली की फूल देवी दर्शन खों। जाना...
कोआ चढ़ा आये पान सुपाड़ी,
कोआ चढ़ा आये जूही के फूल
चमेली के फूल देवी दर्शन खों। जाना...
बाबुल चढ़ा आये पान सुपाड़ी,
अम्मा चढ़ाय आयीं जूही के फूल
चमेली के फूल देवी दर्शन खों। जाना...
मैया चढ़ा आयीं चूनर साड़ी
भाभी चढ़ाय आईं गेंदा के फूल
चमेली के फूल देवी दर्शन खों। जाना...