भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

जिसकी चितवन का इशारा दिल में है / बिन्दु जी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

जिसकी चितवन का इशारा दिल में है,
वह वही दिल का सहारा दिल में है।
हर जगह पर हमको जिसकी थी तलाश।
वह दिल रहजन हमारा दिल में है।
बस गया जिस दिन से दिल में साँवला,
 क्या बताएँ क्या नजारा दिल में है।
दर्दे दिल का दिल से क्यों रुखसत करें,
यह भी एक दिलवर का प्यारा दिल में है।
‘बिन्दु’ आँखों के देते हैं ये सबूत,
प्रेम के गंगा की धारा दिल में है॥