भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

ढुङ्गा / अभि सुवेदी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

१.
कति पटक
सपना देखेँ
ढुङ्गा नाचेको देखिनँ
 
२.
मैले खेलेको साबलाको ढुङ्गा
मलाई गाउँमा भेटेर
हरन्‌को आवाजले रुन्छ