भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

तरबूज / चार्ल्स सिमिह / मनोज पटेल

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

फलों के ठेले पर
धरे हुए
हर बुद्ध

हम खाते हैं हंसी
और थूक देते हैं दान्त ।

अँग्रेज़ी से अनुवाद : मनोज पटेल