भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

तुझे चांद कहूं या सूरज / जगदम्बा चोला

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

तुझे चांद कहूं या सूरज
तुझे दीप कहूं या तारा,
मेरा नाम करेगा रोशन
जग में मेरा राजदुलारा!
मेरे सपने सजे हैं तुझसे
मेरी आंखों के तारे,
मेरी दुनिया रोशन तुझसे
तुझे ला दूं चांद-सितारे।
तुझे मुन्ना कहूं या राजा
तू बेटा मेरा प्यारा,
मेरा नाम करेगा रोशन,
जग में मेरा राजदुलारा!
अब सो जा मेरे मुन्ना
मैं तुझे सुनाऊं गाना,
थपकी दे लोरी गाऊं
तुझे सपना आए सुहाना।
तुझे लाल कहूं या उजाला
मेरे घर का है उजियारा,
मेरा नाम करेगा रोशन
जग में मेरा राजदुलारा!