भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

तुम्हारे आने पर / मोहिनी सिंह

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

तुम्हारा आना
और मेरा एक जटिल कविता पढ लेना
छाप है, कुछ अनुभूति भी है
उत्सुकता बांधे गहराई है
कई जानी पहचानी पंक्तिया
कई अटपटी उपमाएं
कई रंगो की उलझी डोरियााँ
सुलझाना
और इस छोर से उस छोर तक कभी ना पहुंच पाना ।