भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

तुम-1 / नील कमल

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

खेतों से गुज़रते हुए
लगा कि तुम्हारी देह
धानी फसल में
तब्दील हो गई है

और फूटने लगी है
पकते अनाज की ख़ुशबू

मेरा सपना
फिर जी उठता है ।