भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

तुम देर से क्यों मरे? / असंगघोष

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

क्या वहाँ सिर्फ
तुम तीन ही थे
तुम, वल्चर और वह अनाम सुडानी बच्चा
क्या भगवान भी था
अगर था भी
तो कैसा था
गूंगा बहरा
या फिर अंधा
जो फोटो खींचकर
उसने तुम्हें भागने दिया
उसके बाद भी
तुम तीन माह तक
अवसाद में ही सही
जिन्दा कैसे रहे केबिन[1]
तुम्हें तो
फ्लेश चमकते ही
गिद्ध
का निवाला बनने
वहीं मर जाना था।

शब्दार्थ
  1. केबिन कार्टर, फोटो-पत्रकार, जिसके एक फोटो जिसमें गिद्ध एक घिसटते हुए कमजोर-भूखे बच्चे की ओर देख रहा है, पर पुल्तिजर पुरस्कार मिला था परन्तु केबिन कार्टर को बच्चे की मदद करने की जगह फोटो खींचकर वहाँ से चले जाने पर काफी आलोचना झेलनी पड़ी और 1994 में मात्र 33 वर्ष की आयु में उसने अवसादग्रस्त होकर आत्महत्या कर ली।