भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

दिसम्बर / चार्ल्स सिमिह / मनोज पटेल

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

गिर रही है बर्फ़
और घूम रहे हैं बेघर बँजारे
कन्धों से लटकाए हुए
विज्ञापन-पट

एक दुनिया के ख़ात्मे का
ऐलान करता हुआ
और दूसरा
स्थानीय नाई की दुकान की दरों का ।

अँग्रेज़ी से अनुवाद : मनोज पटेल