भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार
Roman

दुर्गा दुर्गति हारो / बुन्देली

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

   ♦   रचनाकार: अज्ञात

दुर्गा दुर्गति हारो,
भवानी मोखों आन उबारो।
जपूं शीतला नाम तिहारो
शीतल छैयां डारो। भवानी...
नाम जपो मैया मंगला देवी
मंगल काज संवारो। भवानी...
जपूं रोज मैया मात शारदा
सहबुद्धि देव सुधारो। भवानी...
भजन करूं मैया तेरो कालका
काल को फंदा टारो। भवानी...