भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
  काव्य मोती
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

देवी गीत- देबी दयाल भईं अंगन मोरे / अवधी

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

   ♦   रचनाकार: अज्ञात

होलिया में उड़त है गुलाल मईया का रंग सतरंगी
सेनुरा भीजै बिंदिया भीजै चेहरा है ललाम लाल
मईया का रंग सतरंगी
चुडिया भीजै कंगना भीजै हाथ है ललाम लाल
मईया का रंग सतरंगी
लहंगा भीजै चुनरी भीजै देहियाँ है ललाम लाल
मईया का रंग सतरंगी
पायल भीजै बिछुआ भीजै एड़िया है ललाम लाल
गुलाल मईया का रंग सतरंगी