भारत की संस्कृति के लिए... भाषा की उन्नति के लिए... साहित्य के प्रसार के लिए
लोक संगीत
कविता कोश विशेष क्यों है?
कविता कोश परिवार

दोस्त की वापसी / वीरा

Kavita Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

किसी पहाड़ी फुनगी पर

एक कोया बर्फ़

गिरी हौले से


देवदारु के वृक्षों पर

अंगार-सी धूप

बैठ गई


कहीं दोस्त

आया

...वापस